Alone shayari in Hindi | अलोन शायरी इन हिन्दी

Alone shayari in Hindi | एलोन शायरी इन हिन्दी : हैलो दोस्तो आज हम आपके लिए लाए हैं। बेस्ट एलोन शायरी इन हिन्दी जो कि आपको हमारा यह Alone shayari in hindi कलेक्शन काफी प्रसंद आएगा।

एलोन शायरी आपको आपके अकेलेपन में काफी मदद मिलेगी। और आपका मूड को चेंज करेगी। अगर आपको यह Alone shayari in Hindi पोस्ट प्रसंद आए तो आपने दोस्तो या अपने किसी खास लोगो के साथ शेयर करें। 

और हमे comment कर के जरूर बताई की आपको यह हमारा Alone shayari in Hindi | एलोन शायरी इन हिन्दी पोस्ट आपको कैसा लगा। Thank you ❤️

पहले तुम साथ थे तो चलते थे मेरे पैर,
अब तन्हा होकर तो बस लड़खड़ाते है

Alone shayari in hindi for girlfriend.
Alone shayari in hindi

कुछ कर गुजरने की चाह में कहाँ-कहाँ से गुजरे,
अकेले ही नजर आये हम जहाँ-जहाँ से गुजरे।

दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता …
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता .. ।। 

मेरा दिल क्या तोड़ा तुमने,
मेरी हिम्मत भी कभी जुड़ ना पाई।

दिल में था तेरे जो कह के चली गई
कितना रुलाया है तेरी इस बात ने मुझे
फिर भी दुआ है तेरे लिए तू खुश ही बस रहे
मेरा तो शायद नाम भी याद ना तुझे

Love text shayari in Hindi.

वो हर बार मुझे छोड़ के चले जाते हैं तन्हा,
मैं मज़बूत बहुत हूँ लेकिन कोई पत्थर तो नहीं हूँ।

  1. यहां आंसू भी एक अलग परेशानी है
  2. खुशी और गम दोनों की निशानी है
  3. समझने वाले के लिए तो अनमोल है
  4. जो ना समझ पाए उनके लिए पानी है
अलोन शायरी इन हिन्दी
अलोन शायरी इन हिन्दी

चांद जैसी फितरत है मेरी,
वो आसमां में अकेला है
मैं इस जहाँ में अकेला हूँ

जो ढल जाए वो शाम होती है,
जो ख़तम हो जाए वो ज़िंदगी होती है,
Jo मिल जाए वो मौत होती है,
और जो ना मिले वो मोहब्बत होती है….

lonely shayari 2022.

खुद को खोकर मिले थे तुम,
मगर तुमको खोकर मैं नहीं मिल पा रहा हूं।

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम,
दुसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम …
जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से,
फिर भी बार बार तनहा छोड़ जाते हो तुम.. ।।

सहारा लेना ही पड़ता है मुझको दरिया का,
मैं एक कतरा हूँ तनहा तो बह नहीं सकता।

तेरे बिना ज़िंदगी अधूरी है यारा,
तुम मिल जाओ तो ज़िंदगी पूरी है यारा …
तेरे साथ ज़िंदगी की सारी खुशिया ,
दुसरो के साथ हसना तो मज़बूरी है यारा … ।।

बर्बादियों का हसीन एक मेला हूँ मैं,
सबके रहते हुए भी बहुत अकेला हूँ मैं।

एक अजीब सा मंजर नजर आता है
हर एक आसू समन्दर नजर आता है
कहा राखी शीशे का दिल अपना
हर किसी के हाथ में पत्थर नजर आता है

तसल्ली देने के लिए बुलाता हूँ तुम्हारी यादों को,
मगर अफसोस सिवाय तन्हाइयो के कुछ नहीं मिलता।

अलोन शायरी इन हिन्दी.

मेरी जंग थी वक्त के साथ,
फिर वक्त ने ऐसी चाल चली,
मैं अकेला होता गया।

माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!

कितनी अजीब है इस शहर की तन्हाई भी,
हजारों लोग हैं मगर कोई उस जैसा नहीं है।

अकेले आने और अकेले जाने के बीच
अकेले जीना सीखना ही जिंदगी है।

मोहब्बत मुकद्दर है कोई ख़्वाब नही ,
ये वो अदा है जिसमें हर कोई कामयाब नही …
जिन्हें मिलती मंज़िल उंगलियों पे वो खुश है ,
मगर जो पागल हुए उनका कोई हिसाब नही  … ।।

जगमगाते शहर की रानाइयों…

जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था,
ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था,
हम वही, तुम भी वही, मौसम वही, मंज़र वही,
फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था।

हर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी कर दे
रब तेरे गम को तेरी ख़ुशी कर दे
जब भी टूटने लगे तेरी सांसें……
खुद तुझमें शामिल मेरी ज़िन्दगी कर दे

जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था,
ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था …
हम वही, तुम भी वही, मौसम वही, मंज़र वही ,
फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था  … ।।

Alone shayari in hindi

तुम जब आओगे तो खोया हुआ पाओगे मुझे,
मेरी तन्हाई में ख़्वाबों के सिवा कुछ भी नहीं …
मेरे कमरे को सजाने कि तमन्ना है तुम्हें ,
मेरे कमरे में किताबों के सिवा कुछ भी नहीं …

तुम साथ होकर भी मेरे साथ नहीं थे,
और मैं तुम्हारे पास ना होकर भी
तुम्हारे ही पास हूँ।

बेवफा होकर भी उनके पास महफिले है,
वफादार होकर भी हम यहाँ अकेले है।

जब से देखा है चाँद को तन्हा,
तुम से भी कोई शिकायत ना रही।

ये जो फिक्र करती…

ये जो फिक्र करती हो
दिन रात तुम हमारी…,,
इश्क करती हो या बस
आदत है तुम्हारी…,,

बहुत सोचा बहुत समझा,
बहुत ही देर तक परखा …
कि तन्हा हो के जी लेना ,
मोहब्बत से तो बेहतर है … ।। 

ये भी शायद ज़िंदगी…

ये भी शायद ज़िंदगी की इक अदा है दोस्तों,
जिसको कोई मिल गया वो और तन्हा हो गया।

हज़ारो बातें मिल कर एक राज़ बनता है ,
सात सुरों के मिलने से साज़ बनता है …
आशिक़ के मरने पर कफ़न भी नहीं मिलता ,
और हसीनाओ के मरने पर ताज़ बनता है … ।।

यहाँ तो समंदर भी
बड़ा मतलबी निकला यारों…
जान लेकर,लहरों सें कहता हैं,
लाश को किनारें लगा दो..!!!

लव सायरी इन हिन्दी फोर गर्लफ्रेंड.

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम,
दूसरे ही पल खुवाब बनकर उड़ जाते हो तुम …
जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से,
फिर भी बार बार तनहा छोड़ जाते हो तुम … ।।

हमदम तो साथ साथ चलते हैं,
रास्ते तो बेवफा बदलते हैं,
तेरा चेहरा है जब से आँखों में,
जाने क्यों मुझ से लोग जलते हैं।

एक तेरे ना होने से बदल जाता है सब कुछ
कल धूप भी दीवार पे पूरी नहीं उतरी।

एक उमर बीत चली…

एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए, तू आज भी बेखबर है कल की तरह।

आसमान से तोड़ कर सितारा दिया है, आलम-ए-तन्हाई में एक शरारा दिया है, मेरी किस्मत भी नाज़ करती है मुझपे, खुदा ने दोस्त ही इतना प्यारा दिया है।

अना कहती है इल्तेजा क्या करनी, वो मोहब्बत ही क्या जो मिन्नतों से मिले।

सबब तलाश करो… अपने हार जाने का, किसी की जीत पर रोने से कुछ नहीं होगा।

उठो तो ऐसे उठो…

उठो तो ऐसे उठो कि फक्र हो बुलंदी को, झुको तो ऐसे झुको बंदगी भी नाज़ करे।

ज़िंदगी जब जख्म पर दे जख्म तो हँसकर हमें, आजमाइश की हदों को… आजमाना चाहिए।

अभी मुठ्ठी नहीं खोली है मैंने आसमां सुन ले, तेरा बस वक़्त आया है मेरा तो दौर आएगा।

जंग में कागज़ी अफ़रात से क्या होता है, हिम्मतें लड़ती हैं तादाद से क्या होता है।

नसीहत अच्छी देती है दुनिया, अगर दर्द किसी ग़ैर का हो।

दिल की धड़कन….

दिल की धड़कन और मेरी सदा है तू, मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है तू, चाहा है तुझे चाहत से भी बढ़ कर, मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है तू।

खुदा तौफीक देता है उन्हें जो यह समझते हैं, कि खुद अपने ही हाथों से बना करती हैं तकदीरें।

दुनिया फ़रेब करके हुनरमंद हो गई, हम ऐतबार करके गुनाहगार हो गए।

इस दुनिया में लाखों लोग रहते हैं, कोई हँसता है तो कोई रोता है, पर सबसे सुखी वही होता है, जो शाम को दो पैग मार के सोता है।

जिसके नसीब मे हों ज़माने की ठोकरें, उस बदनसीब से ना सहारों की बात कर।

दोस्ती में दोस्त, दोस्त का ख़ुदा होता है, महसूस तब होता है जब वो जुदा होता है।

पहली मोहब्बत के लिए….

पहली मोहब्बत के लिए दिल जिसे चुनता है. वो अपना हो न हो…दिल पर राज हमेशा उसी का रहता है।

कर दे नज़रे करम मुझ पर, मैं तुझपे ऐतबार कर दूँ, दीवाना हूँ तेरा ऐसा, कि दीवानगी की हद को पार कर दूँ,

ना तुम दूर जाना ना हम दूर जायेंगे, अपने-अपने हिस्से की दोस्ती निभाएंगे।

बड़ी उदास है ज़िंदगी तेरे बिन नहीं है कुछ मेरे पास तेरे बिन अँधेरा हो या हो उजाला .. आता नहीं कुछ बी रास तेरे बिन

हर मील के पत्थर पर लिख दो यह इबारत, मंजिल नहीं मिलती नाकाम इरादों से।

ऐसा लगता है कुछ….

ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है, कोई मीठे सपनों में खोने जा रहा है, धीमी कर दे अपनी रोशनी ऐ चाँद, मेरा कोई अपना अब सोने जा रहा है।

जब टूटने लगे हौंसला तो बस ये याद रखना, बिना मेहनत के हासिल तख़्त-ओ-ताज नहीं होते, ढूढ़ लेना अंधेरे में ही मंजिल अपनी दोस्तों, क्योंकि जुगनू कभी रोशनी के मोहताज़ नहीं होते।

ज़रा सी चोट लगी, कि चलना भूल गए, शरीफ लोग थे, घर से निकलना भूल गए, तमाम शहर में घूमे किसी ने नहीं पहचाना, हम एक रोज़ जो चेहरा बदलना भूल गए! Shayarism.com

नजर से दूर रहकर भी किसी की सोच में रहना, किसी के पास रहने का तरीका हो तो ऐसा हो।

ज़िंदा रहना है तो हालात….

ज़िंदा रहना है तो हालात से डरना कैसा, जंग लाज़िम हो तो लश्कर नहीं देखे जाते।

न सो सका हूँ न शब जाग कर गुज़ारी है अजीब दिन हैं सुकूँ है न बे-क़रारी है ~ ज़ुहूर नज़र

मंजिल मिले न मिले, ये तो मुकद्दर की बात है हम कोशिश ही न करे ये तो गलत बात है।

किसी दिन ज़िंदगानी में करिश्मा क्यूं नहीं होता, मैं हर दिन जाग तो जाता हूं ज़िन्दा क्यूं नहीं होता

बेहतर से बेहतर की तलाश करो, मिल जाए नदी तो समंदर की तलाश करो, टूट जाते हैं शीशे पत्थरों की चोट से, तोड़ से पत्थर ऐसे शीशे की तलाश करो।

बुला रहा है कौन मुझको उस तरफ, मेरे लिए भी क्या कोई उदास बेक़रार है।

Leave a Comment