Barish Mausam Shayari | बारिश मौसम शायरी

This post we are going to share the best : Barish Mausam Shayari बारिश मौसम शायरी इन हिन्दी। | Barish Mausam Shayari in Hindi | Best Two Line Barish Shayari in Hindi.

ख़ुद को इतना भी न बचाया कर,
बारिशें हुआ करे तो भीग जाया कर।

इस भीगे भीगे मौसम में थी आस तुम्हारे आने की,
तुमको अगर फुर्सत ही नहीं तो आग लगे बरसातों को।

Barish Mausam Shayari in Hindi. बारिश मौसम शायरी इन हिन्दी।
Barish Mausam Shayari in Hindi. बारिश मौसम शायरी इन हिन्दी।

दीवारो पर बस एक नाम लिखा था मुहब्बत,
बारिश की बूंदों ने उसे चूम चूम के मिटा दिया।

कहीं फिसल ना जाओ
ज़रा संभल के रहना,
मौसम बारिश का भी है और
मुहब्बत का भी..!!

बता किस कोने में सुखाऊँ तेरी यादें,
बरसात बाहर भी है और भीतर भी है।

  1. Barish Shayari in Hindi.

बारिश के पानी को अपने हाथ में समेट लो,
जितना आप समेट पाये उतना आप हमें चाहते हैं और
जितना न समेट पाये उतना हम आपको चाहते है।

जब भी होगी पहली बारिश, तुमको सामने पायेंगे,
वो बूंदों से भरा चेहरा तुम्हारा हम देख तो पायेंगे।

ये बारिश भी बिल्कुल तुम्हारी तरह है,
फर्क सिर्फ इतना है,
तुम मन को भीगा देते हो,
वो पूरे तन को भीगा देती है।

जबरदस्त लव शायरी। Jabardast Love Shayari in Hindi.

तपिश और बढ़ गई इन चंद बूंदों के बाद,
काले सियाह बादलो ने भी बस यूँ ही बहलाया मुझे।

एहसास का तूफान,
किसी के प्रति प्रेम जगाता है,
और फिर मोह का अतिरेक,
उसमें बाढ़ ले ही आता है।

  1. Barish Shayari in Hindi Sad.

बरसती बारिशों से बस इतना ही कहना है,
के इस तरह का मौसम मेरे अंदर भी रहता है।

हो रही है बारिश,
पूरा शहर ये वीरान है,
एक हम ही तो उदास नहीं,
सारा शहर परेशान है।

मासूम मोहब्बत। का बस इतना सा फसाना है ,
काग़ज़ की कश्ती और बारिश का ज़माना है ।

Hindi love Shayari for Instagram Caption.

ऐ बारिश ज़रा थम के बरस,
जब मेरा यार आ जाये तो जम के बरस,
पहले न बरस की वो आ न सकें,
फिर इतना बरस की वो जा न सकें।

जरा सी भी अदब नहीं हैं इस बारिश में,
कि उस बेवफा की तरह ये भी मुझ पर बरस जाती हैं।

  1. Barish Shayari in Hindi Font.

तेरे प्रेम की बारिश हो,
मैं जलमग्न हो जाऊं,
तुम घटा बन चली आओ,
मैं बादल बन जाऊं।

अब भी बरसात की रातों में बदन टूटता है,
जाग उठती हैं अजब ख़्वाहिशें अंगड़ाईयों की।

सुबह का मौसम बारिश का साथ है,
हवा ठंडी जिससे ताजगी का एहसास है,
बना के रखिए चाय और पकौड़े,
बस हम आपके घर के थोड़े से पास हैं।

Beautiful Shayari in Hindi. ब्यूटीफुल शायरी इन हिन्दी।

मेरी महफ़िल में नज़्म की इरशाद अभी बाकी है,
कोई थोड़ा भीगा है, पूरी बरसात अभी बाकी है।

खयालों मे वही, सपनो मे वही,
लेकीन उनकी यादों मे हम थे ही नही,
हम जागते रहे दूनिया सोती रही,
एक बारिश ही थी,
जो हमारे साथ रोती रही ।

  1. Romantic Barish Shayari in Hindi.

ये बारिश की बूंदे प्यार भरा संगीत है,
हवा के साथ अठखेलियां करती हैं,
खिड़कियां खोल कर इन्हें छूने का,
इंतजार आज भी हथेलियां करती हैं।

हैरत से ताकता है सहरा बारिश के नज़राने को,
कितनी दूर से आई है ये रेत से हाथ मिलाने को।

Barish Mausam Shayari in Hindi.

बारिश का मौसम कुछ याद दिलाता है,
किसी के साथ होने का एहसास दिलाता है,
फिजा भी सर्द है यादें भी ताजा है,
यह मौसम किसी का प्यार दिल में जगाता है।

अब कौन से मौसम से कोई आश लगाये,
बरसात में भी याद ना जब उन को हम आए।

मदमस्त बूँदों को गिरते देखा,
बादल का हाल बताते हैं,
तड़पन में अपनी बन के बारिश,
वो धरा से मिलने आते हैं।

  1. Sad Barish Shayari in Hindi.

मजबूरियाँ ओढ़ के निकलता हूँ घर से आजकल,
वरना शौक तो आज भी है बारिशो में भीगने का।

भीगे हैं खिड़की के शीशे,
भीगा है मन भी मेरा,
लगता है बारिश हुई थी कल रात,
बाहर भी और अंदर भी।

ग़म-ए-बारिशे इसीलिए नहीं कि तुम चले गए,
बल्कि इसलिए कि हम ख़ुद को भूल गए।

कभी बेपनाह बरस पडी, कभी गुम सी है,
यह बारिश भी कुछ – कुछ तुम सी है।

ये इश्क़ का मौसम अजीब है जनाब,
इस बारिश में कई रिश्ते धुल जाते है,
बेगानों से करते है मोहब्बत कुछ लोग,
और अपनों के ही आंसू भूल जाते है।

  1. Pehli Barish Shayari in Hindi.

खुद को इतना भी ना बचाया करो,
बारिशे हुआ करे तो भीग जाया करो।

बारिश और मोहबत
दोनों ही यादगार होते हे,
बारिश में जिस्म भीगता हैं,
और मोहबत में आँखे

Barish Mausam Shayari in Hindi.

बारिश से मोहब्बत मुझे कुछ इस क़दर है,
वो बरश्ता उधर है,
और मेरा दिल धड़कता इधर है।

कोई तो बारिश ऐसी हो जो तेरे साथ बरसे मोसिन,
तन्हा तो मेरी ऑंखें हर रोज़ बरसाती हैं। 

ये बारिश भी कितनी अजीब है,
पूरे तन को तो भीगा देती है,
मगर उसके सामने आँसू छुपाने में,
मेरी मदद नहीं कर पाती है।

  1. Barish Shayari in Hindi 140.

एक हम हैं जो इश्क़ कि बारिश करते है,
एक वह हैं जो भीगने को तैयार ही नहीं।

ये मौसम भी क्या रंग लाया है,
साथ हवा और घटाएं लाया है,
मिट्टी की खुशबू फैलाये सावन आया है,
दिल को ठंडक देने बरसात का महीना आया है।

कितना कुछ धुल गया आज इस बारिश में,
हाँ तुम्हारी यादों के पन्ने भी धुल गए इस बारिश में।

न कोई छत्रछाया है,
न कोई मोह माया है,
बारिश से ज्यादा तो मुझको
तेरी यादों ने भिगाया है।

वो बारिश की बूंदों को बाहें फैला कर समेट लेता है,
वो जानता है कि हर बूंद उसकी ही तरह तन्हा है।

  1. Barish Shayari in Hindi 2 line.

बादल बड़े चुप-चुप से लगते हैं,
नाराज़ ख़ुद से लगते हैं,
आज पानी कहीँ से भी नहीँ बरसा,
यह भी कुछ-कुछ मुझ से लगते हैं।

मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है,
बारिश के हर कतरे से आवाज तुम्हारी आती है।

Barish Mausam Shayari in Hindi.

दिल में अनजाना सा एहसास,
जैसे बारिश चुपके से कुछ कह रही है,
न जाने कौन सी कशिश है इस बारिश में,
जो साथ में यादें भी ले आई है।

बारिश सुहानी और मोहब्बत पुरानी,
जब भी मिलती है नई सी लगती है।

भीगते हैं जिस तरह से
तेरी यादों में डूब कर,
इस बारिश में कहाँ वो कशिश
तेरे खयालों जैसी।

  1. Barish Par Shayari in Hindi.

कल रात मैंने सारे ग़म आसमान को सुना दिए,
आज मैं चुप हूँ और आसमान बरस रहा है।

ये बारिश अपने साथ साथ
तुम्हारी यादो की बौछार लाई है,
तनहाई के इस आलम में,
खुशियां बेशुमार लाई है।

मैं तेरे हिज्र की बरसात में कब तक भीगूँ,
ऐसे मौसम में तो दीवारे भी गिर जाती हैं।

Leave a Comment