Dhoka Shayari in Hindi धोखा शायरी Pyar Me Dhoka Shayari Hindi

Dhoka Shayari in Hindi : हेलो दोस्तों आज हम इस पोस्ट में धोखा शायरी Pyar Me Dhoka Shayari Hindi लेकर आए हैं जो की आपको बेहद पसंद आएगी और फ्रेंड अगर आपको हमारा यह पोस्ट Dhoka Shayari in Hindi पसंद आए तो कमेंट करके जरूर बताइएगा की आपको यह पोस्ट कैसा लगा।

हम आइना है आइना ही रहेंगे,
फिक्र वो करे
जिनकी शकल में कुछ
और दिल में कुछ है।

किसी से मोहब्बत मत करना ऐ दोस्त,
ये दिल तोड़कर ही दम लेती है,
छोड़ देते हैं बीच राह में साथ,
टूटे दिल के साथ तुम्हें तन्हा छोड़ देती हैं।

Dhoka Shayari in Hindi.

इश्क़ में किनारा पाना आसान नहीं,
हर लहर यहाँ धोके की उठती हैं।

Dhoka Shayari in Hindi धोखा शायरी Pyar Me Dhoka Shayari Hindi
Dhoka Shayari in Hindi धोखा शायरी Pyar Me Dhoka Shayari Hindi

 

भरोसा जितना कीमती होता है ,
धोका उतना ही महंगा हो जाता है …
ईमानदारी का दाम कोन जाने ,
यहां हर बेइमान राजा हो जाता है …।।

तेरी यादों के नशे में हूँ
अब सब भूल रहा हूँ
बस तुझे ही लिखता रहता हूँ
और मशहूर हो रहा हूँ।

हम इश्क़ निभाते रहे,
वो पीठ पीछे मजाक उड़ाते रहे,
जब तक ज़रूरत थी हमारी उन्हें,
तब तक साथ होने का ठोंगा दिखातें रहे।

तेरी बेवफाई का किस्सा जब-जब
याद आएगा, मेरे तन बदन में एक
आग सी भड़कायेगा, जो तूने किया
कोई दुश्मन भी नहीं ऐसा करता
देख लेना एक दिन तू भी बोहत
पछतायेगा।

दिल तो पहली बार ही टूट गया था..
बाद में तो इसने जिद कर ली थी धोखा खाने की.

धोखा शायरी इन हिंदी.

कितना टूटा हूं किस अल्फाज में बयां करूं,
सीने में दर्द आज भी उठता है
तुझे याद कर कैसे बताऊं,
तेरी कमी आज भी खलती है
तुझे कैसे समझाऊं।

धोखा देकर ऐसे चले गए,
जैसे कभी जानते ही नहीं थे,
और अब ऐसे नफरत जताते है,
जैसे प्यार को मानते ही ना हो।

अपने दिल का दर्द उसे बताना चाहता हु
उसे कितना चाहता हु
उसे महसूस कराना चाहता हु
कितना रोया हु उसे पाने के लिए
उसकी गोद में सर रखकर
उसे बताना चाहता हु

बस कुछ बाते ही लिख पाया हु
तेरे जाने के बाद
उनमे भी, मुझे कुछ खामी सी लगती हैं
तेरी हां जरुरी थी मेरी ज़िन्दगी के लिए
तेरा यू, मेरी मोहब्बत को ठुकरा जाना
मुझे मेरी मोहब्बत की नाकामी सी लगती हैं

प्यार में धोखा बेवफा शायरी.

ये इश्क भी क्या चीज़ है,
एक वो है जो धोखा दिए जाते हैं,
और एक हम है
जो मौका दिए जाते हैं।

रिश्ते टूट कर चूर चूर हो गए
धीरे धीरे वो हमेसा दूर हो गए
हमारी ख़ामोशी हमारे लिए गुन्हा बन
गयी और वो गुन्हा कर बेकसूर हो गए।

जब धोखा ही था तुम्हारी मोहब्बत.
तो झूठ अपनी लबो को कहने देते.
और जब मै सुखी था,
मुझे अपने बिना ही रहने देते…

Due to spem comment we have closed the comment box of our site.
स्पैम कमेंट के कारण हमने अपनी साइट के कमेंट बॉक्स को बंद कर दिया है।