दूरियाँ शायरी इन हिंदी | Duriyaa Shayari in Hindi

दूरियाँ शायरी इन हिंदी : हेलो दोस्तों आज हम इस पोस्ट में Duriyaa Shayari in Hindi लेकर आए हैं जो की आपको बेहद पसंद आएगी और फ्रेंड अगर आपको हमारा यह पोस्ट दूरियाँ शायरी इन हिंदी पसंद आए तो कमेंट करके जरूर बताइएगा की आपको यह पोस्ट कैसा लगा।

दूरियाँ शायरी इन हिंदी Duriyaa Shayari in Hindi.
दूरियाँ शायरी इन हिंदी Duriyaa Shayari in Hindi.

तुम्हारे नाम को होंठों पर सजाया है मैंने,
तुम्हारी रूह को अपने दिल में बसाया है मैंने,
दुनिया आपको ढूंढते ढूंढते हो जायेगी पागल,
दिल के ऐसे कोने में छुपाया है मैंने.

  1. दूरियाँ शायरी इन हिंदी

मेरे दिल ने जब भी दुआ माँगी है,
तुझे माँगा है तेरी वफ़ा माँगी है,
जिस मोहब्बत को देख के दुनिया को रश्क आये,
तेरे प्यार करने की वो अदा माँगी है।

मुझे ये डर है तेरी आरजू न मिट जाये
बहुत दिनों से तबियत मेरी उदास नहीं

चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो,
सांसों में मेरी खुशबु बनके बिखर जाते हो,
कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू,
सोते-जागते तुम ही तुम नज़र आते हो

  1. ख़ामोशी शायरी

मंजिल भी तुम हो तलाश भी तुम हो,
उम्मीद भी तुम हो आस भी तुम हो,
इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो,
अहसास तुम हो प्यास भी तुम ही हो।

कुछ इस अदा से हाल सुनाना हमारे दिल
वो खुद ही कह दे किदी भूल जाना बुरी बात है

जाने उस शख्स को कैसा ये हुनर आता है
रात होती है तो आँखों में उतर आता है
मैं उस के ख्यालों से बच के कहाँ जाऊं
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है

  1. Duriyaa Shayari in Hindi

जितना प्यार है आपसे उससे और
ज्यादा पाने को जी चाहता है,
जाने वो कौन सी खूबी है आपमें कि
हर रिश्ता आपसे बनाने को जी चाहता है

मैने कब तुझसे ज़माने की खुशी माँगी है,
एक हल्की-सी मेरे लब पे हँसी माँगी है,
सामने तुझको बिठाकर तेरा दीदार करूँ,
जी में आता हैं जी भर के तुझे प्यार करूँ।

किसी मासूम लम्हे मैं किसी मासूम चेहरे से
मोहब्बत की नहीं जाती मोहब्बत हो जाती है

  1. Duriya Status in Hindi

हम अपने इख़्तियार की हद से गुजर गए
चाहा तुम्हें तो प्यार की हद से गुजर गए
जागी है अपने दिल में गुलाबों की आरज़ू
जब मौसम-ए-बहार की हद से गुजर गए

हम भी फूलों की तरह अक्सर तनहा रहते है
कभी खुद टूट जाते है कभी कोई तोड़ देता है

कुछ यूँ तुम मोहब्बत का आगाज़ कर दो,
मेरी ज़िन्दगी में प्यार का एहसास भर दो,
छुप-छुप के देखा करो दूर से हमें,
गुजरो करीब से और नजर-अंदाज़ कर दो.

  1. Dooriyan shayari

हम अपने इख़्तियार की हद से गुजर गए,
चाहा तुम्हें तो प्यार की हद से गुजर गए,
जागी है अपने दिल में गुलाबों की आरज़ू,
जब मौसम-ए-बहार की हद से गुजर गए।

आप जब तक रहेंगे आंखों में नजारा बनकर
रोज आएंगे मेरी दुनिया में उजाला बनकर

दिल में है जो बात होंठों पे आने दे,
मुझे जज्बातों की लहरों में खो जाने दे,
आदी हो चुका हूँ मैं तेरी निगाहों का,
अपनी निगाहों के समंदर में डूब जाने दे।

  1. Pyar mein Dooriyan shayari

ना पूछ कितनी मोहब्बत मैं ज़ख़्म खाए है
अगर इनके बारे में सोच लो तो दिल भर जाता है

चेहरे पे मेरे जुल्फों को फैलाओ किसी दिन,
क्यूँ रोज गरजते हो बरस जाओ किसी दिन,
खुशबु की तरह गुजरो मेरी दिल की गली से,
फूलों की तरह मुझपे बिखर जाओ किसी दिन।

सर्द हवाओं ने गालों को छुआ है,
शायद तुमने मेरा नाम लिया होगा,
दिल की धड़कन रुक सी गयी है सीने में,
शायद तुमने मुझे थाम लिया होगा।

  1. दूरियाँ शायरी

गम में ख़ुशी की वजह बनी है मोहब्बत,
दर्द में यादों की वजह बनी है मोहब्बत,
जब कुछ भी ना रहा था अच्छा इस दुनिया में,
तब हमारे जीने की वजह बनी है यह मोहब्बत

अपनेपन का एहसास शायरी | Ehsaas Shayari In Hindi.

ज़रूरी तो नहीं जो ख़ुशी से उसी से प्यार हो
प्यार अक्सर दिल तोड़ने वाले भी क्र जाते है

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी,
कदर जिनकी दिल में होती है..

  1. दूरियाँ शायरी हिंदी

लबों से छू लूँ जिस्म तेरा,
साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे,
मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो,
सांसों में मेरी खुशबु बनके बिखर जाते हो,
कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू,
सोते-जागते तुम ही तुम नज़र आते हो.

गलतफहमी की गुंजाईश नहीं सच्ची मोहब्बत में
जहाँ किरदार हल्का हो कहानी डूब जाती है

  1. hindi love shayari

कुछ यूँ तुम मोहब्बत का आगाज़ कर दो,
मेरी ज़िन्दगी में प्यार का एहसास भर दो,
छुप-छुप के देखा करो दूर से हमें,
गुजरो करीब से और नजर-अंदाज़ कर दो।

हम अपने इख़्तियार की हद से गुजर गए,
चाहा तुम्हें तो प्यार की हद से गुजर गए,
जागी है अपने दिल में गुलाबों की आरज़ू,
जब मौसम-ए-बहार की हद से गुजर गए

Zakhmi Dil Shayari in Hindi | जख्मी दिल शायरी हिंदी।

तुम्हे मेरी मोहब्बत की कसम सच बताना
गले में डाल कर बाहें किससे सीखाया है

ये ज़ुल्फ़ अगर खुलके बिखर जाये तो अच्छा,
इस रात की तकदीर संवर जाए तो अच्छा,
जिस तरह से थोड़ी सी तेरे साथ कटी है,
बाकी भी इसी तरह गुजर जाए तो अच्छा।

Due to spem comment we have closed the comment box of our site.
स्पैम कमेंट के कारण हमने अपनी साइट के कमेंट बॉक्स को बंद कर दिया है।