ग़ालिब की शायरी हिंदी में। Ghalib shayari in hindi.

This post we are going to share the best : ग़ालिब की शायरी हिंदी में, Ghalib poetry in hindi.

भूल जाता हूँ मैं सबकुछ आपके सिवा
यह क्या मुझे हुआ है
क्या इसी एहसास को दुनिया ने
इश्क़ का नाम दिया है…

इन लबों पे जो हंसी है
इनकी तू ही है वजह
बिन तेरे मैं कुछ नहीं हूँ
मेरा होना है बेवजह….

जब से आये हो तुम मेरी जिन्दगी में
हमें ख़ुशी बेपनाह मिली हैं
तुमसे मोहब्बत हद से ज्यादा
और जीने की वजह मिली है….

ग़ालिब की शायरी हिंदी में..

  1. ग़ालिब की शायरी हिंदी में.
    1. इक दूजे का हर पल
    2. अब से इक दूजे की भरपाई हो
    3. जीवन भर ऐसे साथ रहो
    4. जैसे दो जिस्म एक परछाई हो…

मेरा दिल इक दीया
तुम इसकी बाती प्रिये
कहाँ मिलेगा तुम्हें
मुझसा जीवनसाथी प्रिये…

इक उम्र लुटा दी है उसने
जाग कर मेरे सिरहाने
किया जीवन नाम उसके
कर्ज उतरे इसी बहाने…

ग़ालिब की शायरी हिंदी में। Ghalib shayari in hindi
उदास हूँ पर तुझसे नाराज नही तेरे दिल में हूँ पर तेरे पास नहीं वैसे तो सब कुछ है मेरे पास पर तेरे जैसा कोई खास नहीं…

उदास हूँ पर तुझसे नाराज नही
तेरे दिल में हूँ पर तेरे पास नहीं
वैसे तो सब कुछ है मेरे पास
पर तेरे जैसा कोई खास नहीं…

 

पल-पल के रिश्तें का वादा है आपसे
अपनापन कुछ इतना ज्यादा है आपसे
ना सोचना कि भूल जायेंगे आपको
जिन्दगी भर चाहेंगे ये वादा है आपसे…

Ghalib poetry in hindi.

  1. मंजिल भी तुम हो, तलाश भी तुम हो
  2. उम्मीद भी तुम हो, आस भी तुम हो
  3. कैसे कहूँ इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो
  4. अब जब अहसास तुम हो तो जिंदगी भी तुम ही हो !

मेरी हर खुशी का रास्ता
तुझसे होकर गुजरता है..!!
अब ये मत पुछना मेरे क्या
लगते हो तुम

कह नहीं सकता कि कितना
मेरे दिल को तुम पर प्यार आया हैं
तेरे आने से ही मेरे हमसफ़र
पतझड़ जिन्दगी में बहार आया है…

उदास नहीं होना, क्योंकि मैं साथ हूँ
सामने न सही पर आस-पास हूँ
पल्को को बंद कर जब भी दिल में देखोगे
मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ!

चाहत बन गये हो तुम
कि आदत बन गये हो तुम,
हर सांस में यूँ आते जाते हो
जैसे मेरी इबादत बन गये हो तुम…

चाहत बन गये हो तुम
कि आदत बन गये हो तुम
हर सांस में यू आते जाते हो
जैसे मेरी इबादत बन गये हो तुम।

प्यार करना सीखा है
नफरतों का कोई ठौर नहीं….!!
बस तू ही तू हैं दिल में
दूसरा कोई और नहीं….!

बदलना आता नहीं हमें मौसम की तरह
हर इक रूट में तेरा इंतज़ार करते हैं
ना तुम समझ सकोगे जिसे कयामत तक
कसम तुम्हारी तुम्हे हम इतना प्यार करते हैं…

4 LINE Ghalib poetry in hindi.

परछाई आपकी हमारे दिल में है
यादे आपकी हमारी आँखों में है
कैसे भुलाये हम आपको,
प्यार आपका हमारी साँसों में है…

इन धड़कनों में तुम्हें बसा लूँ
इन आँखों में तुम्हें सजा लूँ
मेर दिल की आरजू हो तुम
इन साँसों में तुम्हें छुपा लूँ….

दर्द भी वो दर्द जो दवा बन जाये !
मुश्किलें बढ़ें तो आसां बन जाये !!
जख्म पा कर सिर झुका देता हूँ !
जाने कौन पत्थर ख़ुदा बन जाये !!

तेरी आँखों में वो कशिश हैं
जो दिल को छू जाती है
तेरी बातों में वो ख़ुशी है
जो मेरे रूह में समा जाती हैं…

जब भी दिल करे मेरे दिल की
धड़कन्ने सुन सकती हो
ये नादान हर पल तुझसे प्यार
करने की ज़िद्द करता हैं….

तेरी आँखों में वो कशिश हैं
जो दिल को छू जाती हैं
तेरी बातों में वो ख़ुशी हैं
जो मेरे रूह में समा जाती हैं..

Best ग़ालिब की शायरी हिंदी में.

हर किसी की जिन्दगी का सफ़र लम्बा है
कहीं खाई तो कहीं मुसीबतों का खंभा है
अगर कोई सच्चा हमसफ़र बन जाता हैं
जिन्दगी का ये सफ़र आसान हो जाता है…

देर रात जब किसी की याद सताए
ठंडी हवा जब जुल्फों को सहलाये.
कर लो आंखे बंद और सो जाओ क्या पता
जिसका है ख्याल वो खवाबों में आ जाये….

तुम सदा मुस्कुराते रहो ये तमन्ना है हमारी
हर दुआ में माँगी है बस ख़ुशी तुम्हारी
तुम सारी दुनिया को दोस्त बना कर देख लो
फिर भी महसूस करोगे कमी हमारी…

इन धड़कनो में तुम्हें बसा लू..
इन आँखों में तुम्हें सज़ा लू…
मेरे दिल की आरज़ू हो तुम
इन संसो में तुम्हें छुपा लू…

ग़ालिब की शायरी हिंदी में

मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते
शमां जिसको जलाती है परवाने बन जाते
हासिल करना इश्क कि मंजिल नही होती
किसी को खोकर लोग दिवाने बन जाते….

मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी
तेरा नाम सुन कर,
तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है
तो सोच तुझसे कितनी होगी…

कुछ सोचूँ तो तेरा ही ख्याल आता है
कुछ बोलूँ तो तेरा ही नाम आता है
कब तक मैं छुपाऊं अपने दिल की बात
तेरी हर एक अदा पे हमें प्यार आता हैं…

परछाई आपकी हमारे दिल में है
यादे आपकी हमारी आँखों में है
कैसे भुलाये हम आपको
प्यार आपका हमारी साँसों में है।

Gulzar shayari in hindi.

मेरा दिल इक दीया
तुम इसकी बाती प्रिये,
कहाँ मिलेगा तुम्हें,
मुझसा जीवनसाथी प्रिये।

ओ मेरे जीवन साथी, मेरा जीवन तेरा है
तेरे जीवन पर हक बस मेरा है
तेरी हर ख़ुशी मुझसे हो
मेरे गम में बस साथ तेरा हो…

परछाई आपकी हमारे दिल में है
यादे आपकी हमारी आँखों में है
कैसे भुलाये हम आपको
प्यार आपका हमारी साँसों में है।

  1. आपके आने से जिन्दगी कितनी ख़ूबसूरत है
  2. दिल में बसी है जो वो आपकी ही सूरत है
  3. दूर जाना नहीं हम से कभी भूलकर भी
  4. हमें हर कदम पर सिर्फ आपकी जरूरत हैं….

खुदा किसी को किसी पर फ़िदा न करे
करे तो कयामत तक जुदा न करे
यह माना कि कोई मरता नहीं जुदाई में
लेकिन जी भी तो नहीं पापा तन्हाई में…

तुम क्या जानों
कितना प्यार है तुमसे
खुशियों का संसार है तुमसे
इस जीवन का आधार है तुमसे….

किसी से प्यार इतना करना कि हद ना हो
पर एतबार भी इतना करना कि शक ना हो
वफ़ा इतनी हो की कभी बेवफ़ाई ना हो
और दुआ इतनी करना की कभी जुदाई न हो…

Due to spem comment we have closed the comment box of our site.
स्पैम कमेंट के कारण हमने अपनी साइट के कमेंट बॉक्स को बंद कर दिया है।