जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.

हैलो दोस्तो आज हम इस पोस्ट मे जबरदस्त बेवफाई शायरी Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi के बारेमे कुछ शायरीया आपके लिय लाये हे जो की आपको बहोत प्र्शंद आएगी। ओर अगर आपको यह हमारा पोस्ट प्र्शंद आए तो अपने दोस्तो के साथ जरूरु शेयर करे। ओर अगर आपको एसे ही ओर पोस्ट तो हमे कमेंट कर के जरूरु बताइये हम आपके लिए भी एसी पोस्ट लाएँगे।

वो निकल गए मेरे रास्ते से इस कदर कि,
जैसे कि वो मुझे पहचानते ही नहीं,
कितने ज़ख्म खाए हैं मेरे इस दिल ने,
फिर भी हम उस बेवफ़ा को बेवफ़ा मानते ही नहीं।

जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.
जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.

जख्मों को हमने खुद ही सिना सीख लिया है,
जीते है कैसे हमने जीना सीख लिया है,
अक्सर जो बहते रहते थे आंखों के रास्ते,
हमने भी उन अश्कों को पीना सीख लिया है..!!

Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.

ना जाने क्यूँ नज़र लगी ज़माने की,
अब वजह मिलती नहीं मुस्कुराने की,
तुम्हारा गुस्सा होना तो जायज़ था,
हमारी आदत छूट गयी मनाने की..!!

कच्ची दीवार हूँ ठोकर ना लगाना मुझे
अपनी नज़रों में बसा कर ना गिराना मुझे
तुमको आँखों में तसव्वुर की तरह रखता हूँ
दिल में धड़कन की तरह तुम भी बसाना मुझे

इल्जाम न दे मुझको तूने ही सिखाई बेवफाई है,
देकर के धोखा मुझे मुझको दी रुसवाई है,
मोहब्बत में दिया जो तूने वही अब तू पाएगी,
पछताना छोड़ दे तू भी औरों से धोखा खायेगी..!!

जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.
जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी..!!

बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,
ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,
कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को,
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।

Jabradsta Bewafa Shayari.

वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।

एक बेवफा से प्यार का अंजाम देख लो,
मैं खुद ही शर्मशार हूँ उससे गिला नहीं,
अब कह रहे हैं मेरे जनाज़े पे बैठ कर,
यूँ चुप हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं..!!

मेरे वजूद में काश तू उतर जाए
मैं देखूं आइना और तू नजर आये
तू हो सामने और वक्त ठहर जाए
और ये जिंदगी तुझे यूँ ही देखते हुए गुज़र जाए

जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.
जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.

जहाँ पर नफरतों के खुरदरे दस्तूर होते हैं,
वहाँ पर प्यार के किस्से बहुत मशहूर होते है,
ये रिश्तों के उजालों में चमकते और बुझते हैं,
कहीं ये अश्क होते हैं कहीं सिन्दूर होते हैं..!!

जिंदगी में रुसवाई कर गई
मोहब्बत में बेवफाई कर गई
मैने सदियों तक उसे चाहा
वो किसी और के साथ गुजर गया

मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ!
मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ!
पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ!
क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ!

जबरदस्त बेवफाई शायरी इन हिन्दी।

अगर दुनिया में जीने की चाहत न होती,
तो खुदा ने मोहब्बत बनायी न होती,
इस तरह लोग मरने की आरजू न करते,
अगर मोहब्बत में किसी की बेवफाई न होती।

मोहब्बत की कहानी बेवफा हो तो
इश्क भी उतना सच्चा होता है
मोहब्बत अधूरी है तो क्या हुआ
एक तरफ़ा आशिक भी बेवफ़ा नहीं होता है

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है !
खामोशियो की आदत हो गयी है !
न सीकवा रहा न शिकायत किसी से अगर है तो !
एक मोहब्बत जो इन तन्हाइयों से हो गई है !!

जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.
जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.

इंसानों के कंधे पर इंसान जा रहे हैं,
कफ़न में लिपट कर कुछ अरमान जा रहे हैं,
जिन्हें मिली मोहब्बत में बेवफ़ाई,
वफ़ा की तलाश में वो कब्रिस्तान जा रहे हैं..!!

सारी चाहते तेरे लिए
सारे गम मेरे लिए
मेरे हिस्से की तू अधूरी कहानी थी
मैं प्यार का राजा तू बेवफाओ की रानी थी

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आकर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।

पहली बार है दोबारा नहीं
खून है मेरा फवारा नहीं
सभी चोट पहुंचाते हैं मेरे दिल को
मेरा दिल है कोई बाज़ारा नहीं

जबरदस्त बेवफाई शायरी

तेरे इश्क़ ने दिया सुकून इतना,
कि तेरे बाद कोई अच्छा न लगे,
तुझे करनी है बेवफाई तो इस अदा से कर,
कि तेरे बाद कोई बेवफ़ा न लगे।

रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई..!!

हर पल कुछ सोचते रहने की आदत हो गयी है,
हर आहट पे चौंक जाने की आदत हो गयी है,
तेरे इश्क़ में ऐ बेवफा, हिज्र की रातों के संग,
हमको भी जागते रहने की आदत हो गयी है।

जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.
जबरदस्त बेवफाई शायरी | Jabradsta Bewafa Shayari In Hindi.

मैंने कुछ इस तरह से खुद को संभाला है,
तुझे भुलाने को दुनिया का भरम पाला है,
अब किसी से मुहब्बत मैं नहीं कर पाता,
इसी सांचे में एक बेवफा ने मुझे ढाला है..

साथ छोड़ देंगे तो कहां जाओगे
मेरे साथ तो ना पाओगे तो किसे अपनाओगे
दूसरा तुम्हारा दिल न रख पाया तो
क्या फिर मेरे पास आ जाओगे।

Due to spem comment we have closed the comment box of our site.
स्पैम कमेंट के कारण हमने अपनी साइट के कमेंट बॉक्स को बंद कर दिया है।