Phoolo Ki Khushboo Shayari | फूलों की खुशबू शायरी

फूलों की खुशबू शायरी : हेलो दोस्तों आज हम इस पोस्ट में फूलों की खुशबू शायरी | Phoolo Ki Khushboo Shayari लेकर आए हैं जो की आपको बेहद पसंद आएगी और फ्रेंड अगर आपको हमारा यह पोस्ट फूलों की खुशबू शायरी पसंद आए तो कमेंट करके जरूर बताइएगा की आपको यह पोस्ट कैसा लगा।

मोहब्बत में नशा तेरे इंतजार का है
इस दिल में नशा तेरे दीदार का है
ना होश में ला मुझे मदहोश ही रहने दे,
मेरे इन नैनो में नशा तेरे प्यार का है…

कभी लफ्ज़ भूल जाऊं कभी बात भूल जाऊं,
तूझे इस कदर चाहूँ कि अपनी जात भूल जाऊं,
कभी उठ के तेरे पास से जो मैं चल दूँ,
जाते हुए खुद को तेरे पास भूल जाऊं।

  1. फूलों की खुशबू शायरी

फूलों की खुशबू शायरी | Phoolo Ki Khushboo Shayari.
फूलों की खुशबू शायरी | Phoolo Ki Khushboo Shayari.

मेरे वजूद में काश तू उतर जाए,
मैं देखूं आइना और तू नजर आये,
तू हो सामने और वक्त ठहर जाए,
और तुझे देखते हुए जिंदगी गुज़र जाए।

बहुत से रास्ते है मेरे दिल की तरफ
राह मोहब्बत से अ फसले असां पडेगा

माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!

  1. खुशबू शायरी

एक डॉक्टर द्वारा लिखी बेहतरीन लाइन..
दवा में कोई खुशी नहीं…
और…खुशी जैसी कोई दवा नहीं…

इस जख्म को भरने में देर नहीं लगती
जिस जखम में शामिल हो अपनों की इनायत

माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!

  1. Phoolo Ki Khushboo Shayari

अल्फाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता है,
यहाँ पर पानी को प्यास लिखा जाता है,
मेरे जज़्बात वाकिफ से है मेरी कलम भी,
प्यार लिखूं तो तेरा नाम लिखा जाता है।

ना मै तूझे खोना चाहता हूं,
ना मै तेरी याद में रोना चाहता हूं,
जब तक सांसे है इस जिंदगी के,
बस तेरे साथ जीना चाहता हूं…!

पूछा जो हमने किसी और के होने लगे हो तुम
वो मुस्कुरा के बोले पहले कब तुम्हारे थे हम

  1. Khushboo Shayari

धड़कते हुये दिल का करार हो तुम,
इन सजी महफ़िलों की बहार हो तुम,
तरसती हुई निगाहों का इंतज़ार हो तुम,
नाम की जिंदगी का पहला प्यार हो तुम

मैने कब तुझसे ज़माने की खुशी माँगी है,
एक हल्की-सी मेरे लब पे हँसी माँगी है,
सामने तुझको बिठाकर तेरा दीदार करूँ,
जी में आता हैं जी भर के तुझे प्यार करूँ।

दर्द में कोई मौसम प्यारा नही होता,
दिल हो प्यासा तो पानी से गुजरा नही होता,
कोई देखे तो हमारी बेबसी को,
हम सभी को चाहते है पर कोई हमारा नही होता..!!

  1. Phoolo Ki  Shayari

अल्फाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता है,
यहाँ पर पानी को प्यास लिखा जाता है,
मेरे जज़्बात से वाकिफ है मेरी कलम भी,
प्यार लिखूं तो तेरा नाम लिखा जाता है।

दीवानगी मे कुछ ऐसा कर जाएंगे।
महोब्बत की सारी हदे पार कर जाएंगे,
वादा है तुमसे दिल बनकर तुम धड़कोगे
और सांस बनकर हम आएँगे।

मुस्कुराए दिल खिलाए आप जैसा कौन है,
दोस्ती ऐसे निभाए आप जैसा कौन है।

  1. Phool Shayari

मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता
कुछ रिश्तो का कोई तोल नहीं होता
वैसे लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर
पर कोई आप की तरह अनमोल नहीं होता ..!!

कुछ लोग मेरी शायरी से सीते है अपने ज़ख़्म
कुछ लोग को चुबता हो मैं नमक की तरह

चूमना क्या उसे आँखों से लगाना कैसा,
फूल जो डाल से गिर जाये तो उठाना कैसा,
अपने होंठों की हरारत से जगाओ मुझको,
यूँ सदाओं से दम-ए-सुबह जगाना कैसा।

  1. फूलों की शायरी

अमल से भी मांगा वफा से भी मांगा,
तुझे मैंने तेरी रज़ा से भी मांगा,
न कुछ हो सका तो दुआ से भी मांगा,
कसम है खुदा की खुदा से भी मांगा।

हमारी शाम चाहत से सजी मालूम होती है
मेरी अब रूह राहों में बिछी मालूम होती है।

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,
यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे,
वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,
और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे!

  1. फूलों खुशबू शायरी

मेरी आंखों के ख्वाब, दिल के अरमान हो तुम,
तुम से ही तो मै हूं, मेरी पहचान हो तुम,
मैं जमीन हूं अगर तो मेरे आसमान हो तुम,
सच मानो मेरे लिए तो सारा जहान हो तुम।

देखा है तुझे मेरी आँखों ने,
छूआ है तुझे मेरे होंठों ने,
हमने तो कुछ नहीं किया सनम,
प्यार किया है तुझे मेरे हाथों ने!!

खुद को खोने का पता तक न चला
किस को पाने मैं तनहा गुजर गए

  1. खुशबू फूलों की शायरी

उदास लम्हों की न कोई याद रखना,
तूफान में भी वजूद अपना संभाल रखना,
किसी की ज़िंदगी की ख़ुशी हो तुम,
बस यही सोच तुम अपना ख्याल रखना।

चाहत की महफिल में बुलाया है किसी ने,
खुद बुला कर फिर सताया है किसी ने,
जब तक जली है शमा जलता रहा परवाना,
क्या इस तरहा साथ निभाया है किसी ने!!

Leave a Comment