Pyar Bhari Ghazal in Hindi | प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी।

हैलो दोस्तो इस पोस्ट मे आज हम लाये हे Pyar Bhari Ghazal in Hindi | प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी। तो दोस्तो अगर आपको हमारा यह पोस्ट केसा लगा वो कमेंट जरूर बतायगा।

धड़कते हुए दिल का करार हो तुम,
इन सजी महफिलों की बहार तो तुम,
तरसती हुयी निगाहों का इंतज़ार हो तुम,
मेरी जिंदगी का पहला प्यार हो तुम।

मेरे दिल ने जब भी दुआ माँगी है
तुझे माँगा है तेरी वफ़ा माँगी है
जिस मोहब्बत को देख के दुनिया को रश्क आये
तेरे प्यार करने की वो अदा माँगी है.

Pyar Bhari Ghazal in Hindi.

इक मुलाकात करो हमसे इनायत समझ कर,
हर चीज का हिसाब देंगे कयामत समझ कर,
मेरी मोहब्बत पे कभी शक न करना,
हम मोहब्बत भी करते हैं इबादत समझ कर…

बताने की बात तो नही है
पर बताने दोगे क्या,
इश्क बेपनाह है तुमसे
मुझे हक जताने दोगे क्या

कुछ यूँ तुम मोहब्बत का आगाज़ कर दो,
मेरी ज़िन्दगी में प्यार का एहसास भर दो,
छुप-छुप के देखा करो दूर से हमें,
गुजरो करीब से और नजर-अंदाज़ कर दो.

सुर्ख गुलाब सी तुम हो,
जिन्दगी के बहाव सी तुम हो,
हर कोई पढ़ने को बेकरार,
पढ़ने वाली किताब सी तुम हो।

दिल की धड़कन और मेरी सदा है तू,
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है तू,
चाहा है तुझे चाहत से भी बढ़ कर,
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है तू।

Ghazal in Hindi.

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी,
कदर जिनकी दिल में होती है..

रख लूं नजर में चेहरा तेरा
दिन रात इसी पे मरता रहूं..
जब तक ये सांसे चलती रहें,
मैं तुझसे मोहब्बत करता रहूं…

कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे,
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे,
वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए,
हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंगे..

रिश्ते किसी से कुछ यूँ निभा लो,
की उसके दिल के सारे गम चुरा लो,
इतना असर छोड़ दो किसी पर अपना,
के हर कोई कहे हमें भी अपना बना लो..

बन जाओ मेरी जिंदगी तन्हा हूं मैं,
बसालो दिल की धड़कन में कि तन्हा हूं मैं,
जो तुम नही तो जिंदगी में कुछ भी नही
समा जाओ मुझमें कि तन्हा हूं मैं…

प्यार भरी ग़ज़ल इन हिंदी।

तुम्हारे नाम को होंठों पर सजाया है मैंने,
तुम्हारी रूह को अपने दिल में बसाया है मैंने,
दुनिया आपको ढूंढते ढूंढते हो जायेगी पागल,
दिल के ऐसे कोने में छुपाया है मैंने.

लबों से छू लूँ जिस्म तेरा,
साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे,
मे खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

मैं वक़्त बन जाऊं तू बन जाना कोई लम्हा,
मैं तुझमें गुजर जाऊं तू मुझमें गुजर जाना।

हम अपने इख़्तियार की हद से गुजर गए
चाहा तुम्हें तो प्यार की हद से गुजर गए
जागी है अपने दिल में गुलाबों की आरज़ू
जब मौसम-ए-बहार की हद से गुजर गए

जिक्र करता है ये दिल सुबह शाम तेरा,
बहते हैं आँसू और बनता है नाम तेरा,
किसी और को क्यों देखे ये आँखे मेरी,
जब दिल पर लिखा है मेरे नाम तेरा.

मेरे ख़ामोश होठों पर
मोहब्बत गुनगुनाती है
तू मेरी है.. मै तेरा हूं
बस यही आवाज़ आती है.!

ग़ज़ल इन हिंदी।

हश्र ना पूछो मेरी धड़कनों का तुम जो
पास होती हो तो थम सी जाती हैं
और ना हो तो सुकून कहां पाती हैं

चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो,
सांसों में मेरी खुशबु बनके बिखर जाते हो,
कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू,
सोते-जागते तुम ही तुम नज़र आते हो.

तुझ पर एतवार करना हैं,
दिल जान से प्यार करना है,
मेरी ख्वाइश ज्यादा नही बस इतनी हैं,
तुझे हर लम्हे में अपना बना कर रखना है.

दिल में तेरी चाहत
लबों पे तेरा नाम है
तू मोहब्बत कर या ना कर
मेरी जिंदगी तेरे नाम है

चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही मन भरमाया है,
याद करोगे तुम भी कभी किससे दिल लगाया है।

Due to spem comment we have closed the comment box of our site.
स्पैम कमेंट के कारण हमने अपनी साइट के कमेंट बॉक्स को बंद कर दिया है।