Pyar me Dhoka Shayari | प्यार में धोखा बेवफा शायरी

Pyar me Dhoka Shayari : इस पोस्ट में हमने प्यार में धोखा बेवफा शायरी शेयर की है। आप यहां पोस्ट की गई Pyar me Dhoka Shayari पढ़ सकते हैं और अपनी पसंदीदा शायरी को कॉपी करके अपनी प्रेमिका या प्रेमी के साथ साझा कर सकते हैं,

  1. कभी जो हम से प्यार बेशुमार करते थे, कभी जो हम पर जान निसार करते थे, भरी महफ़िल में हमको बेवफा कहते हैं,जो खुद से ज़्यादा हमपर ऐतबार करते थे।

  2. छोड़ गए हमको वो अकेले ही राहों में, चल दिए रहने वो औरों की पनाहों में ,शायद मेरी चाहत उन्हें रास नहीं आई ,तभी तो सिमट गए वो गैर की बाहों में।

मोहब्बत की सजा बेमिसाल दी उसने
उदास रहने की आदत सी डाल दी उसने
मैंने जब अपना बनाना चाहा उसको
बातों-बातों में बात टाल दी उसने।

तुम्हें ग़ैरों से कब फुर्सत
हम अपने ग़म से कब ख़ाली
चलो बस हो चुका मिलना
न तुम ख़ाली न हम ख़ाली।

Pyar me Dhoka Shayari

मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है
मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है
वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी
ज़रा सा बेवफा होना ज़रूरी हो गया है।

साँसों की तरह
तुम भी शामिल हो मुझमें….
रहते भी साथ हो
और ठहरते भी नहीं…..

ये चिराग-ए-जान भी अजीब है,
कि जला हुआ है अभी तलक
उसकी बेवफाई की आँधियाँ तो
कभी की आ के गुजर गईं।

अगर छोड़ दूँ कलम तो…
तेरी यादें मर जायेँगी…!!
और अगर छोड़ दूँ तेरी यादों को
तो मैं मर जाऊँगा…

अभी तक समझ नहीं पाये तेरे इन फैसलो
को ऐ खुदा..!
उसके हक़दार हम नहीं.. या…
हमारी दुआओ में दम नहीं…

Pyar me Dhoka Shayari.

न रहा कर उदास ऐ दिल
किसी बेवफा की याद में
वो खुश है अपनी दुनिया में!
तेरा सब कुछ उजाड़ के ।

तेरे मिलने की आस न होती
तो ज़िंदगी आज यूँ उदास न होती
मिल जाती कभी तस्वीर जो तेरी
तो हमको आज तेरी तलाश न होती।

मोहब्बत तो दिल से की थी
दिमाग उसने लगा लिया !
दिल तोड दिया मेरा उसने
और इल्जाम मुझपर लगा दिया !

Pyar me Dhoka Shayari. प्यार में धोखा बेवफा शायरी।
Pyar me Dhoka Shayari. प्यार में धोखा बेवफा शायरी

[ image source by social media group ]

किसी ने पूछा .
दिल की खूबी क्या है???
हमने कहा….
हजारो ख्वाहिशों के नीचे
दबकर भी धड़कता है….

अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी sms.

बेवफा से दिल लगा लिया नादान थे हम
गलती हमसे हुई क्योंकि इंसान थे हम
आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती है
कुछ समय पहले उनकी जान थे हम।

एक बेवफा से प्यार का अंजाम देख लो
मैं खुद ही शर्मशार हूँ उससे गिला नहीं
अब कह रहे हैं मेरे जनाज़े पे बैठ कर
यूँ चुप हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं।

बंद होंठों से कुछ ना कहकर
आँखों से प्यार जताते हो |
जब भी आते हो
हम्मे हमसे ही चुरा ले जाते हो…

मैं खुद हैरान हु की तुझसे
इतनी मोहब्बत क्यू है मुझे
जब भी प्यार शब्द आता है
चेहरा तेरा ही याद आता है….

मुझे उसके आँचल का आशियाना न मिला
उसकी ज़ुल्फ़ों की छाँव का ठिकाना न मिला!
कह दिया उसने मुझको ही बेवफा.
मुझे छोड़ने के लिए कोई बहाना न मिला।

नफरत को मोहब्बत की आँखों में देखा
बेरुखी को उनकी अदाओं में देखा
आँखें नम हुईं और मैं रो पड़ा.
जब अपने को गैरों की बाहों में देखा।

प्यार में धोखा बेवफा शायरी 2020.

जिन फूलों को संवारा था
हमने अपनी मोहब्बत से!
हुए खुशबू के काबिल तो
बस गैरों के लिए महके।

मै ये नहीं कहता पग्ली कि
तू नहीं मिली तो जान दे दूंगा !
पर एक वादा करता हूँ
तू मिली तो ज़िन्दगी भर साथ दूंगा !

मेरे चेहरे की हंसी हो तुम
*दिल की हर ख़ुशी हो तुम
मेरे होंठो की मुस्कान हो तुम
धड़कता है मेरा दिल जिसके लिए
वो मेरी जान हो तुम !!

तुम्हारी कसम मेरे सनम
अब हिम्मत नहीं हारेंगे !
मर जायेंगे मगर तेरे सिवा
किसी और को नहीं चाहेंगे !

जल-जल के दिल मेरा जलन से जल रहा
एक अश्क मेरे आँख में मुद्दत से पल रहा
जिसका मैं कर रहा हूँ घुट-घुट के इंतजार
वो बेवफा ना आई मेरा दम निकल रहा।

सब खुशियाँ तेरे नाम कर जाएंगे
ज़िन्दगी भी तुझ पे कुर्बान कर जाएँगे
तुम रोया करोगे हमें याद कर के
हम तेरे दामन में इतना प्यार भर जाऐंगे।

दिल की किताब में गुलाब उनका था
रात की नींद में ख्वाब उनका था
कितना प्यार करते हो जब हम ने पूछा…
मर जाएंगे तुम्हारे बिना ये जवाब उनका था|

Pyar me Dhoka Shayari.

कुछ लोग खोने को प्यार कहते हैं
तो कुछ पाने को प्यार कहते हैं
पर हकीक़त तो ये है,
हम तो बस निभाने को प्यार कहते हैँ…

तू मुझे क्यों इतना याद आता है
तू मुझे क्यों इतना तड़पाता है,
माना के ज़िन्दगी है सिर्फ तेरे लिए
फिर मुझे तू क्यों इतना रुलाता है…

माना कि तू नहीं है मेरे सामने
पर तू मेरे दिल में बसता हैं
मेरे हर दुख में मेरे साथ होता है
और हर सुख में मेरे साथ हसता है…

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से
मोहब्बत तो दिल से होती है
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी
कदर जिनकी दिल में होती है…

प्यार में धोखा बेवफा शायरी 2021

तुझे क्या पता कि मेरे दिल में
कितना प्यार है तेरे लिए
जो कर दूँ बयान तो
तुझे नींद से नफरत हो जाए!

आता नही था हमें इकरार करना,
ना जाने कैसे सीख गये प्यार करना
रुकते ना थे दो पल कभी किसी के लिए
ना जाने कैसे सीख गये इंतेज़ार करना!!

दर्द की जब कभी इन्तहा होती हैं
दवा की जरुरत फिर कहाँ होती हैं
तन्हाई, बेचैनी और बस कुछ आहें
इनमे पल कर ही मोहब्बत जवां होती हैं…

दिल नहीं लगता आपको देखे बिना ;
दिल नहीं लगता आपके बारे में सोचे बिना;
आँखें भर आती हैं यह सोच कर;
कि किस हाल में होंगे आप हमारे बिना।

सरे राह जो उनसे नज़र मिली
तो नक़्श दिल के उभर गए
हम नज़र मिला कर झिझक गए
वो नज़र झुका कर चले गए।

बदल दिया है मुझे
मेरे चाहने वालो ने ही
वरना मुझ जैसे शख्स में
इतनी खामोशी कहाँ थी…

विश्वास में धोखा देने वाली शायरी.

वो छोड़ के गए हमें
न जाने उनकी क्या मजबूरी थी
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं
ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी…

क्या अजीब था उनका मुझे छोड़ के जाना
सुना कुछ नहीं और कहा भी कुछ नहीं
कुछ इस तरह बर्बाद हुए उनकी मोहब्बत में
लुटा भी कुछ नहीं और बचा भी कुछ नहीं।

Pyar me Dhoka Shayari.

पल-पल उसका साथ निभाते हम
एक इशारे पर दुनिया छोड़ जाते हम
समन्दर के बीच में फरेब किया उसने
कहते तो किनारे पर ही डूब जाते हम।

Hindi Love Shayari : Best new Hindi love shayari

इश्क करना तो लगता है जैसे
मौत से भी बड़ी एक सजा है
क्या किसी से शिकायत करें हम
जब अपनी तकदीर ही बेवफा है।

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे
यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे
वो हमे एक लम्हा न दे पाए प्यार का
और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बैठे।

Due to spem comment we have closed the comment box of our site.
स्पैम कमेंट के कारण हमने अपनी साइट के कमेंट बॉक्स को बंद कर दिया है।