प्यार वाली गम भरी शायरी। Pyar wali gam Bhari shayari.

हेलो फ्रेंड आज हम इस पोस्ट में प्यार वाली गम भरी शायरी। के बारे मैं है। जो की हम उम्मीद करते हैं कि हमारा यह प्यार वाली गम भरी शायरी पोस्ट आपको बहोत प्रसंद आएगा अगर आपको हमारा यह पोस्ट प्यार वाली गम भरी शायरीपसंद आए तो कमेंट करना ना भूलें।

हर बार दिल से ये पैगाम आए,
ज़ुबाँ खोलूं तो तेरा ही नाम आए,
तुम ही क्यूँ भाए दिल को क्या मालूम,
जब नज़रों के सामने हसीन तमाम आए।

आखिरी साँसों पे मैंने तेरा नाम लिख दिया,
तेरी मर्ज़ी के बिना अब छू नहीं सकता कोई।

प्यार वाली गम भरी शायरी।

हमदम तो साथ साथ चलते हैं,
रस्ते तो बेवफा बदलते हैं,
तेरा चेहरा है जब से आँखों में,
मेरी आँखों से लोग जलते है।

प्यार वाली गम भरी शायरी। Pyar wali gam Bhari shayari
प्यार वाली गम भरी शायरी। Pyar wali gam Bhari shayari

जिंदगी बहुत खूबसूरत है सब कहते थे,
जब तुम्हें देखा यकीन मुझको हो गया।

मोहब्बत की शम्मा जला कर तो देखो,
जरा दिल की दुनियाँ सजा कर तो देखो,
तुम्हें हो ना जाऐ मोहब्बत तो कहना,
जरा हमसे नजरें मिलाकर तो देखो।

गर मेरी चाहतों के मुताबिक
ज़माने की हर बात होती,
तो बस मैं होता तुम होती,
और सारी रात बरसात होती।

मेरी तकदीर संवर जाये उजालों की तरह,
आप मुझे चाह लें अगर चाहने वालों की तरह।

प्यार भरी शायरी लिखी हुई।

मैं तमाम दिन का थका हुआ,
तू तमाम शब का जगा हुआ,
ज़रा ठहर जा इसी मोड़ पर,
तेरे साथ शाम गुज़ार लूँ।

मोहब्बत की कहूँ देवी या तुमको बंदगी कह दूँ,
बुरा मानो न गर हमदम तो तुमको ज़िन्दगी कह दूँ।

चेहरे पर हंसी छा जाती है,
आँखों में सुरूर आ जाता है,
जब तुम मुझे अपना कहते हो,
मुझे खुद पर गुरुर आ जाता है।

कभी लफ्ज़ भूल जाऊं कभी बात भूल जाऊं,
तूझे इस कदर चाहूँ कि अपनी ज़ात भूल जाऊं,
कभी उठ के तेरे पास से जो मैं चल दूँ,
जाते हुए खुद को तेरे पास भूल जाऊं।

तेरे रुखसार पर ढले हैं मेरी शाम के किस्से,
खामोशी से माँगी हुई मोहब्बत की दुआ हो तुम।

गजब प्यार भरी शायरी।

ख़फ़ा न होना अगर बढ़ के थाम लूँ दामन,
ये दिल फ़रेब ख़ता जान कर नहीं होती,
तुम्हारे आने तलक हमको होश रहता है,
फिर उसके बाद हमें कुछ ख़बर नहीं होती।

किस किस तरह छुपाऊं अब मैं तुम्हें,
मेरी मुस्कान में भी तुम नजर आने लगे हो।

प्यार वाली गम भरी शायरी। Pyar wali gam Bhari shayari
प्यार वाली गम भरी शायरी। Pyar wali gam Bhari shayari

बदलना आता नहीं हमें मौसम की तरह,
हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं,
ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक,
कसम तुम्हारी तुम्हें इतना प्यार करते हैं।

जिंदगी बन गए हो तुम मेरी,
आरजू बन गए हो तुम मेरी,
मेरा खुदा माफ़ करे मुझे,
बंदगी बन गए हो तुम मेरी।

लत तेरी ही लगी है, नशा सरेआम होगा,
हर लम्हा जिंदगी का सिर्फ तेरे नाम होगा।

गम भरी शायरी लिखी हुई।

बेवजह हम वजह ढूंढ़ते हैं तेरे पास आने को,
ये दिल बेकरार है तुझे धड़कन में बसाने को,
बुझती नहीं है प्यास मेरे इस प्यासे दिल की,
न जाने कब मिलेगा सुकून तेरे इस दीवाने को।

महका सा दिन महकती सी रात आए,
तुम कहो तो खुशबू सी कोई बात आए।

प्यार वाली गम भरी शायरी।

फिजा में महकती शाम हो तुम,
प्यार का छलकता जाम हो तुम,
सीने में छुपाये फिरते है तुम्हें,
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हो तुम।

कुछ यूँ उतर गए हो मेरी रग-रग में तुम,
कि खुद से पहले एहसास तुम्हारा होता है।

संगमरमर के महल में तेरी तस्वीर सजाऊंगा,
मेरे इस दिल में ऐ सनम तेरे ख्वाब सजाऊंगा,
आजमा के देख ले तेरे दिल में बस जाऊंगा,
प्यार का हूँ प्यासा तेरे आगोश में सिमट जाऊॅंगा।

दिल की दर्द भरी शायरी।

तुम मिल गए तो मुझ से नाराज है खुदा,
कहता है कि तू अब कुछ माँगता नहीं है।

छुपा लूं तुझको अपनी बाँहों में इस तरह,
कि हवा भी गुजरने की इजाज़त मांगे,
मदहोश हो जाऊं तेरे प्यार में इस तरह,
कि होश भी आने की इजाज़त मांगे।

खुदा करे वो मोहब्बत जो तेरे नाम से है,
हजार साल गुजरने पे भी जवान ही रहे।

प्यार वाली गम भरी शायरी।

चूमना क्या उसे आँखों से लगाना कैसा,
फूल जो कोट से गिर जाये उठाना कैसा,
अपने होंठों की हरारत से जगाओ मुझको,
यूँ सदाओं से दम-ए-सुबह जगाना कैसा।

हजारों चेहरों में एक तुम ही पर मर मिटे हैं वरना,
ना चाहतों की कमी थी और ना चाहने वालों की।

तेरी खुशिओं को सजाना चाहता हूँ,
तुझे देखकर मुस्कराना चाहता हूँ,
मेरी ज़िन्दगी में क्या अहमियत हैं तेरी,
मैं तेरे पास आकर बताना चाहता हूँ।

सच्चा प्यार करने वाली शायरी।

मैं कुछ न कहूँ और ये चाहूँ कि मेरी बात,
खुशबू की तरह उड़ के तेरे दिल में उतर जाए।

ऐ शख्स तेरा साथ मुझे हर शक्ल में मंज़ूर है,
यादें हों कि खुशबू हो, यक़ीं हो कि ग़ुमान हो।

प्यार वाली गम भरी शायरी। Pyar wali gam Bhari shayari
प्यार वाली गम भरी शायरी। Pyar wali gam Bhari shayari

चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो,
साँसों में खुशबू बन के बिखर जाते हो,
कुछ यूँ चला है आपके प्यार का जादू,
सोते-जागते तुम ही तुम नज़र आते हो।

जी चाहे कि दुनिया की हर एक फ़िक्र भुला कर,
दिल की बातें सुनाऊं तुझे मैं पास बिठाकर।

प्यार वाली गम भरी शायरी।

मुझे ना सताओ इतना कि मैं रुठ जाऊं तुमसे,
मुझे अच्छा नहीं लगता अपनी साँसों से जुदा होना।

मैंने कहा बहुत प्यार आता है तुम पर,
वो मुस्कुरा कर बोले और तुम्हें आता ही क्या है।

दावे मोहब्बत के मुझे नहीं आते सनम,
एक जान है जब दिल चाहे माँग लेना।

प्यार वाली शायरी 2021।

आपके आने से ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है,
दिल में बसाई है जो वो आपकी ही सूरत है,
दूर जाना नहीं हमसे कभी भूलकर भी,
हमे हर कदम पर आपकी ज़रूरत है।

एक सुकून सा मिलता है तुझे सोचने से भी,
फिर कैसे कह दूँ मेरा इश्क़ बेवजह सा है।

प्यार वाली गम भरी शायरी।

एक बार तू जरा मुस्कुरा के देख ले,
जो ना सोचा होगा तूने वो मिलेगा तुझको भी,
एक बार अपने कदम बढ़ा के देख ले।

पहले तो अपने दिल की रज़ा जान जाइए,
फिर जो निगाह-ए-यार कहे मान जाइए,
शायद हुजूर से कोई निस्बत हमें भी हो,
आँखों में झाँककर हमें पहचान जाइए।

चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही मन भरमाया है,
याद करोगे तुम भी कभी किससे दिल लगाया है।

Due to spem comment we have closed the comment box of our site.
स्पैम कमेंट के कारण हमने अपनी साइट के कमेंट बॉक्स को बंद कर दिया है।