Zakhmi Shayari in Hindi | जख्मी शायरी इन हिंदी

Zakhmi Shayari in Hindi : हैलो दोस्तो आज इस पोस्ट मे Zakhmi Shayari in Hindi | जख्मी शायरी इन हिंदी के बारे मे कुछ शायरी पेश करने जा रहे हे जो की आपको बहोत प्रशंद आएगी। हम आशा करते हे की आपको यह हमारी Zakhmi Shayari in Hindi पोस्ट अच्छी लगेगी। ओर अगर आपको हमारा पोस्ट केशा लगा वो कमेंट कर के जरूर बताइएगा। धन्यवाद…🙏

Zakhmi Shayari in Hindi | जख्मी शायरी इन हिंदी
Zakhmi Shayari in Hindi | जख्मी शायरी इन हिंदी

अपने आँचल से बाँध लूं दिल को,
कहीं तेरे ख्यालों के साथ उड़ न जाये,
थाम लूँ हाथ इसका कसकर,
कहीं तेरी यादों में राह से मुड़ न जाये।

जख्मी दिल शायरी हिंदी।

धड़कते दिल की आवाज तुम हो,
सब से ज्यादा कुछ खास तुम हो,
हर पल एहसास होता है इतना,
जेसे मेरे दिल के पास तुम हो।

इस दिल को अगर तेरा एहसास नही होता …
तू दूर भी रहकर यूं दिल के पास नही होता …
इस दिल ने तेरी चाहत कुछ ऐसे बसा ली है …
इक लम्हा भी तुझ बिन कुछ खास नही होता ..

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी,
कदर जिनकी दिल में होती है।

Zakhmi Shayari in Hindi
Zakhmi Shayari in Hindi

तेरा इंतज़ार मुझे हर पल रहता है,
हर पल मुझे तेरा एहसास रहता है,
तुझ बिन धड़कन रुक सी जाती है,
क्यूंकि तू मेरे दिल में धड़कन बन कर रहता है।

इस दिल की दास्ताँ भी बड़ी अजीब होती है,
बड़ी मुश्किल से इसे ख़ुशी नसीब होती है,
किसी के पास आने पर ख़ुशी हो न हो,
पर दूर जाने पर बड़ी तकलीफ होती है।

Dil Shayari in Hindi.

नहीं में इक़रार महबूब के दिल ने पाया।
उसके नहीं से करार दिल को आया।।
एक नहीं ने मंजिले मोहब्बत को आसाँ बनाया।
नहीं ने दिल की सोई हुई उमंगो को फिर से जगाया।।

वादे वफ़ा करके क्यों मुकर जाते हैं लोग,
किसी के दिल को क्यों तड़पाते हैं लोग,
अगर दिल लगाकर निभा नहीं सकते,
तो फिर क्यों दिल लगाते हैं लोग।

समझाउंगी इसे प्यार से,
बहलाउंगी अलग-अलग अंदाज़ से,
अपन गले से लगाकर रखूंगी इसे,
कहीं तेरे दिल से फिर न जुड़ जाये।

जख्मी शायरी इन हिंदी
जख्मी शायरी इन हिंदी

काश उसे चाहने का अरमान न होता,
मैं होश में रहते हुए अनजान न होता,
ना प्यार होता किसी पत्थर दिल से हमको,
या फिर कोई पत्थर दिल इंसान न होता।

इस दिल की सरहद को पार न करना,
नाज़ुक है मेरा दिल इस पर वार न करना,
खुद से बढ़कर भरोसा किया है तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना।

Zakhmi Dil Shayari in Hindi.

इस दिल की सरहद को पार न करना,
नाज़ुक है मेरा दिल इस पर वार न करना,
खुद से बढ़कर भरोसा किया है तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना।

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,
मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था।

  1. Shayari Sangrah in Hindi. शायरी संग्रह इन हिंदी।

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी

टॉप Zakhmi Dil Shayari in Hindi जख्मी दिल शायरी हिंदी
टॉप Zakhmi Dil Shayari in Hindi जख्मी दिल शायरी हिंदी

 

इस दिल की दास्ताँ भी बड़ी अजीब होती है,
बड़ी मुश्किल से इसे ख़ुशी नसीब होती है,
किसी के पास आने पर ख़ुशी हो न हो,
पर दूर जाने पर बड़ी तकलीफ होती है।

Leave a Comment